रीठा के बालों के...ही नहीं त्वचा व सेहत के लिए भी लाभ

रीठा एक प्राकृतिक क्लींजर है यह बाल व त्वचा की गंदगी और तेल को निकालने में मदद करता है। रीठा का वृक्ष बडा तथा पत्ते लंबे होते हैं। इसके हल्के गुलाबी रंग के फूल ही फूलों का रूप धारण कर लेते हैं। इसका फल पानी में डाले पानी में डालने पर झाग उत्पन्न करता है। हिस्टीरिया के दौरे पडने वाले रोगी के छिलकों को जलाकर उसका धुआं देना चाहिए एक महा तक उसकी धूनी के प्रयोग से हिस्टीरिया के दौरे पडने बंद हो जाते हैं। 
माइग्रेन सर दर्द की भायनक बीमारी है। माइग्रेन से पीडितों के आधे सर में दर्द होता है। कई बार यह दर्द सहना मुश्किल हो जाता है। रीठे का इस्तेमाल करके इस भयानक दर्द से मुक्ति पायी जा सकती है। सबसे पहले रीठा पाउडर लेकर उसमें थोडी काली मिर्च मिलायें और अब उसमें थोडा पानी भी मिला दें। इस घोल की 4-5 बूंद अपनी नाक में डालें, कुछ ही समय में माइग्रेन के दर्द से राहत मिलेगा।