तेजपत्ते में होते हैं ये औषधीय गुण

मसाले के तौर पर इस्तेमाल होने वाली इन पत्तियों में कई औषधीय गुण पाए जाते हैं। इसमें भरपूर मात्रा में ऐंटी-ऑक्सिडेंट पाया जाता है। इसके अलावा इन पत्तियों में कई तरह के प्रमुख तत्व जैसे कॉपर, पोटैशियम, कैल्शियम, सेलेनियम और आयरन पाया जाता है। किडनी स्टोन और किडनी से जुड़ी ज्यादातर समस्याओं के लिए तेजपत्ते का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद होता है। तेजपत्ते को उबालकर उस पानी को ठंडा करके पीने से किडनी स्टोन और किडनी से जुड़ी दूसरी समस्याओं में फायदा मिलता है। सोने से पहले तेजपत्ते का इस्तेमाल करना अच्छी नींद के लिए बहुत फायदेमंद है। तेजपत्ते के तेल की कुछ बूंदों को पानी में मिलाकर पीने से अच्छी नींद आती है। पेट से जुड़ी कई समस्याओं में ये कारगर उपाय है। चाय में तेजपत्ते का इस्तेमाल करके कब्ज, एसिडिटी और मरोड़ जैसी समस्याओं से राहत पा सकते हैं। कॉकरोच भगाने के लिए इसका प्रयोग कर सकते हैं। यह आपकी सेहत के लिए बिलकुल भी हानिकारक नहीं है। दर्द में राहत के लिए भी तेजपत्ता एक कारगर उपाय है। तेजपत्ते के तेल से प्रभावित जगह पर मसाज करना बहुत फायदेमंद होता है। इसके अलावा अगर तेज सिर दर्द हो रहा हो तो भी इसके तेल से मसाज करना अच्छा रहता है।बहुत कम लोगों को ही पता होगा कि तेज पत्ते में बेहतरीन रूम फ्रेशनर के गुण भी होते हैं। तेज पत्ते को जलाने से निकलने वाला धुआं वातावरण में ताजगी लाता है। तेज पत्ते को जलाने से निकलने वाले धुएं से थकान दूर होती है, दिमाग शांत रहता है। इतना ही नहीं इसका धुआं शरीर के इम्यून सिस्टम को भी मजबूत बनाता है। यह कहना गलत नहीं होगा कि हमारी रसोई में ही हमारा सेहत का खजाना है। इसलिए मामूली माना जाने वाला तेजपत्ता बहुत महत्वपूर्ण है।